फ़ॉलोअर

गुरुवार, 12 नवंबर 2009

"आँवले का ताजा अचार" (श्रीमती डॉ.अमर भारती)

आँवला खाइए! सेहत बनाइए!!

(आँवले का अचार)


जाड़े का मौसम दस्तक दे चुका है। ऐसे में खिचड़ी खाई जाये और साथ में आँवले का ताजा-ताजा अचार हो तो उड़द की दाल की खिचड़ी का स्वाद बहुत बढ़ जाता है।
आइए, आज मैं आपको आँवला का ताजा अचार बनाने की विधि बताती हूँ।
आधा किलो ताजे आँवले लें और उन्हें साफ पानी से धो लें। अब इनको साफ पानी में एक छोटा चम्मच नमक डालकर उबाल लें। उबल जाने पर इनका पानी फेंक दें और साफ पानी से धो लें।
लोहे की कड़ाही में 4-टेबिल स्पून तेल डालकर चूल्हे पर चढ़ा दें। तेल गरम हो जाने पर उसमें एक छोटा चम्मच जीरा डाल दें, जीरा भुन जाने पर चार टेबिल-स्पून पिसा धनिया पाउडर, एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर, नमक-मिर्च स्वादानुसार पानी में धोलकर डालें। यह मसाला भुन जाने पर इसमें उबले आँवले डाल दें। थोड़ी देर तक इन्हें मसाले के साथ चलायें और 200ग्राम पानी डालकर धीमी आँच पर पानी सूखने तक पकने दें। 
(नोटः- यह भी ध्यान रखें कि इस अचार में नमक सामान्य से कुछ अधिक ही डाला जाता है)
आँवलों का पानी सूख जाने पर इन्हें किसी स्टील या चीनी-मिट्टी के पात्र में पलट लें। 
बस तैयार है आँवले का मजेदार अचार। यह अचार गुणकारी भी है और बनाने में भी आसान है।
इन्हें खिचड़ी या पराँठे के साथ खायें। अचार का स्वाद आपको भुलाए नही भूलेगा।
इस अचार को फ्रिज में रखकर एक सप्ताह तक खाया जा सकता है।

10 टिप्‍पणियां:

संगीता पुरी ने कहा…

आवंला स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत लाभदायक होता है .. आपने अचार बनाने की अच्‍छी विधि बतायी है .. आपका धन्‍यवाद !!

मनोज कुमार ने कहा…

बस कल ही इसकी तैयारी शुरु करता हूं। बहुत अच्छी जानकारी दी।

Unknown ने कहा…

aaj to aapne khila khila kar khichdi se tript kar diya..

wah !
atyant swaadisht aur poushtik !

aabhaar !

Urmi ने कहा…

आंवले का अचार देखकर तो खाने का मन कर रहा है! पर अफ़सोस की बात यही है की यहाँ पर आंवला नहीं मिलेगा इसलिए भारत जाने तक इंतज़ार करना पड़ेगा! आपने बहुत ही सुंदर रूप से आंवले का अचार बनाने की रेसिपे बताई है जो बहुत ही स्वादिष्ट लग रहा है और उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

रंजू भाटिया ने कहा…

इस तरीके से भी बन आकार देखेंगे आसान है यह शुक्रिया ..

सुशील छौक्कर ने कहा…

अचार के शौकीन है जी। आँवला का अचार भी खा कर देखते है। शुक्रिया आपका।

पूनम श्रीवास्तव ने कहा…

्कल ही मैं इस अचार को बनाऊंगी--अच्छी जानकारी।
पूनम

siddheshwar singh ने कहा…

बहुत सरल शब्दों में अचार बनाने की विधि समझाई गई है और आजकल आँवला भी खूब मिल रहा है , सो -

०१- बाजार जाकर आँवले लाते हैं.
०२- आपकी बताई विधि से बनाते हैं.

और
०३- खिचड़ी की दावत पर आपको बुलाते हैं.

लेकिन
एक अनुरोध-

स्वादिष्ट खिचड़ी (उड़द दाल की) बनाने की विधि तो बतायें
ताकि जल्दी हम आपको दावत पर बुलायें।

vandan gupta ने कहा…

kabhi khaya to nhi aanwle ka achar magar ab khane ki ichcha jagrit ho gayi hai isliye try to jaroor karenge....shukriya

daanish ने कहा…

chatpatee vidhi
chatpitee treaaaat
abhivaadan

चुराइए मत! अनुमति लेकर छापिए!!

Protected by Copyscape Online Copyright Infringement Protection

लिखिए अपनी भाषा में