समर्थक

मंगलवार, 15 सितंबर 2009

रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-2 का उत्तर


रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-2
का सही उत्तर था

गंगा नहर
स्थान-रुड़की,
जिला-हरिद्वार
(उत्तराखण्ड)



जिसके विजेता हैं-
श्री रावेंद्रकुमार रवि

रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-2 में सही उत्तर देने वाले न०-2 हैं-
श्री समीर लाल जी Udan Tashtari

किन्तु इनका जवाब अधूरा था। इन्होंने स्थान नही बताया था।

रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-2 में सही उत्तर देने वाले नं०-3 हैं-
श्री गुरू सहाय भटनागर
http:badnam.blogspot.com
किन्तु इनका जवाब अधूरा था। इन्होंने स्थान नही बताया था।
रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-2 में सही उत्तर देने वाले नं०-4 हैं-


इसके अतिरिक्त

Mumbai Tigerहे! प्रभु यह तेरापन्थ

SELECTION & COLLECTION SELECTION & COLLECTION
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक, डॉ. इन्द्र देव माहर , nirjan ,
HUNGAMA , P.N.SAXENA , Dr.D.V.SINGH
रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) , ρяєєтι
श्रीमतीvandanaगुप्ता एवं आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal)
आदि ने भी इस प्रतियोगिता में भाग लेकर हमारा उत्साहवर्धन किया।
आज के विजेता श्री श्री रावेंद्रकुमार रवि सहित
सभी प्रतिभागियों को हार्दिक बधाई!
निम्न प्रमाणपत्र
श्री श्री रावेंद्रकुमार रवि की सम्पत्ति है

8 टिप्‍पणियां:

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

भारती जी!
इस सम्मान के लिए हृदय से आपका आभारी हूँ!

संयोग से गत जून-जुलाई में कई बार इस नहर के पास से गुजरा था!

जल्दी की बात है, अत: नाम याद रह गया! अन्यथा बहुत मुश्किल होती!

संजय तिवारी ’संजू’ ने कहा…

आपका हिन्दी में लिखने का प्रयास आने वाली पीढ़ी के लिए अनुकरणीय उदाहरण है. आपके इस प्रयास के लिए आप साधुवाद के हकदार हैं.

Udan Tashtari ने कहा…

विजेताओं को बधाई. बताईये, जानते हुए नाम लिखने से चूक गये.

अच्छा ही हुआ. रवि भाई को बधाई देने का मौका हाथ आया. :)

संगीता पुरी ने कहा…

विजेताओं को , खासकर रावेन्‍द्र कुमार रवि जी को बहुत बहुत बधाई !!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

विजेताओं को और प्रतिभागियों को बहुत-बहुत बधाई !!

vandana ने कहा…

sabhi vijetaon ko badhayi.

शरद कोकास ने कहा…

आप सभी को बधाई

Google+ Followers

चुराइए मत! अनुमति लेकर छापिए!!

Protected by Copyscape Online Copyright Infringement Protection

लिखिए अपनी भाषा में