समर्थक

रविवार, 5 जून 2011

"आओ ज्ञान बढ़ाएँ-पहेली:84" (श्रीमती अमर भारती)


अमर भारती साप्ताहिक पहेली-84 में
आपका स्वागत है!
यह क्या है?
उत्तर देने का समय
7 जून, 2011, सायं 7 बजे तक!
परिणाम 8 जून, 2011 को प्रातः10 बजे तक
प्रकाशित किये जायेंगे!
------------------
सबसे पहले पहेली का
सही उत्तर देनेवाले को
न.-1 तथा पहेली का विजेता
घोषित किया जायेगा!
इसके बाद सभी उत्तर देने वालों का
लेखा-जोखा प्रस्तुत जायेगा!
पहेली के विजेता को
ऑनलाइन प्रमाणपत्र भी दिया जायेगा!
अमर भारती पहेली न.-85
अगले रविवार को
प्रातः 8 बजे प्रकाशित की जायेगी!

17 टिप्‍पणियां:

Dr.Ajmal Khan ने कहा…

skull aur uspe choti

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

आलू है जी

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

पूरी या भटूरा

Udan Tashtari ने कहा…

फोटो बड़ी ब्लर आई है. मुंडन के बाद बच्चे की खोपड़ी है.


:)

इंदु पुरी ने कहा…

टकली और चुटिया और क्या?

Udan Tashtari ने कहा…

मुन्डनोपरांत खोपड़ी की तस्वीर है......हाल में ही आप और रवि जी ने मुंडन कराया था...उसी वक्त की है...पक्का!!!

Udan Tashtari ने कहा…

रावेन्द्र रवि जी की मुंडन के बाद खोपड़ी.


फाइनल!!!

Udan Tashtari ने कहा…

रावेन्द्र रवि जी की मुंडन के बाद खोपड़ी.


फाइनल!!!

Udan Tashtari ने कहा…

रवि जी की मुण्डनोपरांत खोपड़ी मय चुटिया...हमारे यहाँ इसे चुरखी कहते हैं. :)


ये रहा फाईनल जबाब...लॉक कर लिजिये. :)

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

झावा है यह

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

ha ha
गंजे का सिर और उस पर चोटी

इंदु पुरी ने कहा…

मेरा उत्तर कहाँ है?

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

सही उत्तर तो अक्सर समयसीमा के बाद ही प्रकाशित किये जाते हैं!

वाणी गीत ने कहा…

खोपड़ी ??:)

वाणी गीत ने कहा…

गंजी खोपड़ी पर चोटी??

अवध टाइम्स ने कहा…

हा हा हा
आप ऐसा भी कर सकते हैं, ये आशा नहीं थी.
.
.
वैसे आप ऐसा भी कर सकते हैं.....कुछ संदेह अवश्य था.
प्रायः बीवियां खफ़ा होके ये बोलती हैं : आपका सिर

बस वही है शत-प्रतिशत.

मेरा मन बजाने को कर रहा है, ताक धिना धिन धा.

किसने यह फोटो ली थी.
वैसे ये सिर थोड़ा सा जवान लग रहा है. पिछले दिनों आपके एक और संगी टकले हुए थे कहिन ये वही तो नहीं !!
खैर उत्तर तो यही है 'टकला सिर' अब किसी का भी हो.
आपने ये तो नहीं ही पूछा है कि यह किस पाजी का है.
हा हा हा
(क्षमाप्रार्थी हूँ.)

अवध टाइम्स ने कहा…

ये ऊपर वाली टिप्पणी मेरी है.
दूसरे जी-मेल से.

राजीव नन्दन द्विवेदी 'ई-गुरु राजीव

Google+ Followers

चुराइए मत! अनुमति लेकर छापिए!!

Protected by Copyscape Online Copyright Infringement Protection

लिखिए अपनी भाषा में