समर्थक

रविवार, 17 अक्तूबर 2010

“आओ ज्ञान बढ़ाएँ, पहेली-52” (अमर भारती)

अमर भारती साप्ताहिक पहेली-52 में
आपका स्वागत है!

निम्न चित्र को पहचानकर
इसका नाम और स्थान बताइए!
पहेली का क्ल्यू
-0-0-0-0-0-0-0-
उत्तर देने का समय
19
अक्टूबर, 2010, सायं 7 बजे तक!
परिणाम 20 अक्टूबर, 2010को प्रातः 9 बजे तक
प्रकाशित किये जायेंगे!
------------------

सबसे पहले पहेली का

सही उत्तर देनेवाले को
न.-1 तथा पहेली का विजेता
घोषित किया जायेगा!
इसके बाद सही उत्तर देने वालों को
क्रमशः 2-3-4-5 ….
पर रखा जायेगा!
पहेली के विजेता को
ऑनलाइन प्रमाणपत्र भी दिया जायेगा!
अमर भारती पहेली न.-53
अगले रविवार को
प्रातः 9 बजे प्रकाशित की जायेगी!

18 टिप्‍पणियां:

अशोक बजाज ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति !
विजयादशमी की बहुत बहुत बधाई !!

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

विजयादशमी की बहुत बहुत बधाई !!

ओशो रजनीश ने कहा…

कैंची धाम
नानितल से 17 km दूर
नैनीताल-अल्मोरा रोड पर

ओशो रजनीश ने कहा…

Kainchi Dham is a small place located 17 km from Nainital and 9 km from Bhowali. The town derives its name from a local Kumaoni word 'Kaichi' which means 'two sharp hairpin bends' that is seen on this Nainital-Almora road. 'Kainchi' means 'Scissors' in English and though some say that it has no relation to scissors whatsoever but one cannot deny that this town is actually situated between two hills that intersects and cross each other to form the shape of a scissor from where the name may have also originated.

Kainchi Dham attained its fame only after the Temples along with an Ashram were constructed converting this town into a modern pilgrimage centre founded by the famous Maharaj Neem Karoli Baba and is very well maintained and kept neat and clean. The concept of this place came into existence in 1942 when Maharaj Neem Karoli along with Shri Poornanand of the Kainchi Village proposed building an Ashram here dedicated to Sombari Maharaj and Sadhu Premi Baba who used to perform yagnas in this very place. Later in 1962, their dream materialised and the forest from this area was cleared and a rectangular platform was constructed. After due permission from the Forest Conservator, Maharaj Ji acquired the lease of this land and constructed a Temple devoted to Lord Hanuman over that rectangular platform and adjacent to it is the Kainchi Temple and an Ashram built for devotees. There is also a cave beside the temple where Baba Neem Karoli used to spend his time praying and is considered a sacred area.

The Temples of Kainchi receives so many devotees that the place becomes very crowded and the Ashram is filled to the brim. It has also become mandatory for authorities of the town to regulate the incoming traffic and at the same time ensure that the people are allowed ample space for movement and worshipping

गजेन्द्र सिंह ने कहा…

कैंची धाम, उत्तराखंड

Kainchi धाम एक आश्रम में एक आधुनिक तीर्थ प्रसिद्ध महाराज नीम Karoli बाबा द्वारा स्थापित केन्द्र में निर्माण किया गया है इस शहर परिवर्तित करने और बहुत अच्छी तरह से बनाए रखा और साफ और स्वच्छ रखा के साथ मंदिरों के बाद ही इसकी प्रसिद्धि प्राप्त किया. इस जगह की अवधारणा 1942 में अस्तित्व में आया जब Kainchi गांव के श्री Poornanand के साथ महाराज नीम Karoli एक आश्रम का निर्माण प्रस्तावित यहां Sombari महाराज और साधु प्रेमी बाबा जो इस जगह में बहुत यज्ञों प्रदर्शन किया को समर्पित है.

Udan Tashtari ने कहा…

वैष्णो देवी मंदिर, हरिद्वार

Udan Tashtari ने कहा…

ये वैष्णो देवी मंदिर अलमोड़ा के रास्ते में पड़ता है.

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

ये कैची धाम है और हिंट के चित्र में नीम करौली बाबा हैं.

रामराम.

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

श्री कैंची धाम परमपूज्य बाबा नीम करौली जी महाराज आश्रम

Kainchi Temple
Also known as the Neem Karori Baba and Maharaj ji

डॉ. नूतन - नीति ने कहा…

ye " neem karoli baba kaa ashram hai - Kanchi - kumaun uutarakhand me..dhanyvaad... dashara par hardik shubhkaamnayen..

Dr.Ajmal Khan ने कहा…

Shri Kainchi Hanuman Mandir and Ashram, P. O. Kainchi Dham, Nainital Jila, Uttaranchal (UA) India.this is related with "BABA neen karoli ji mahraaj.".

विजयादशमी की बहुत बहुत बधाई ......

Dr.Ajmal Khan ने कहा…

Shri Kainchi Hanuman Mandir and Ashram, P. O. Kainchi Dham, Nainital Jila, Uttaranchal (UA) India.this is related with "BABA neen karoli ji mahraaj.".

विजयादशमी की बहुत बहुत बधाई ......

वन्दना ने कहा…

विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायें।

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
कल (18/10/2010) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
अवगत कराइयेगा।
http://charchamanch.blogspot.com

आशीष मिश्रा ने कहा…

विजयादशमी पर्व की ढेर सारी शुभकामनाएं

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

नीम करोली बाबा का कैंची धाम नैनीताल से 17 किमी दूर .

इंदु अरोड़ा ने कहा…

नीम करोली बाबा का कैंची धाम

Udan Tashtari ने कहा…

नीम करोली बाबा का कैंची धाम ......... सरोवर नगरी नैनीताल से २० किलोमीटर की दूरी पर अल्मोडा राजमार्ग पर स्थित-

गजेन्द्र सिंह ने कहा…

आप को भी दशहरे की बहुत बहुत शुभकामनाएँ ।

Google+ Followers

चुराइए मत! अनुमति लेकर छापिए!!

Protected by Copyscape Online Copyright Infringement Protection

लिखिए अपनी भाषा में