समर्थक

सोमवार, 21 दिसंबर 2009

रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-12


रविवासरीय साप्ताहिक पहेली-12 में आप सबका स्वागत है।
आपको पहचान कर निम्न चित्र का
नाम और स्थान बताना है।

उत्तर देने का समय 22 दिसम्बर सायं 7 बजे तक।
परिणाम बृहस्पतिवार 23 दिसम्बर को
सुबह 9 बजे प्रकाशित किये जायेंगे।
पहले सही उत्तर देने वाले प्रतिभागी को
नम्बर-1 दिया जायेगा
और पहेली का विजेता घोषित किया जायेगा।
इन्हें रविवासरीय आन-लाइन प्रमाणपत्र दिया जायेगा।
जिसे वह अपने ब्लॉग पर लगाने के अधिकृत होंगे।

सही उत्तर देने अन्य प्रतिभागियों को
क्रमश: 2-3-4-5- के स्थान पर रखा
रविवासरीय साप्ताहिक पहेली -13
अगले रविवार को
प्रातः 8 बजे प्रकाशित की जायेगी।

8 टिप्‍पणियां:

seema gupta ने कहा…

Raghuvir temples

regards

seema gupta ने कहा…

Raghuvir temples kashmeer

regards

अल्पना वर्मा ने कहा…

Raghuvir temples ,Jammu & Kashmir

seema gupta ने कहा…

Raghunatha Mandir
jammu

regards

seema gupta ने कहा…

रघुनाथ मंदिर का निर्माण लगभग साढ़े चार सौ वर्ष पूर्व महाराजा भगवतसिंह ने कराया था। मंदिर में राम, सीता, लक्ष्मणजी की प्रतिमाओं का भव्य दरबार स्थापित है। मंदिर में लगी लाल पत्थर की जालियां राजशाही समय की याद दिलाती हंै तथा मंदिर में पत्थर के पच्चीकारी युक्त दरवाजे लगे हैं। इसके वैभव का बखान करते हैं। साथ ही मंदिर के मुख्यद्वार पर बने पत्थर के दो द्वार पालक हर किसी को अपने और आकर्षित करते हैं, लेकिन वर्तमान में मंदिर में बने कई कमरों की पट्टियां टूट गई हंै । मंदिर के एक ओर हनुमानजी, भैरव बाबा तथा शिव परिवार की प्रतिमाएं स्थापित है। इस मंदिर में प्रतिदिन सैकड़ों श्रद्धालु पूजा अर्चना के लिए आते हंै।देवस्थान विभाग के द्वारा नाममात्र की वार्षिक सहायता दी जाती है। भगवान का प्रतिदिन प्रसाद भी नहीं बन पाता है। राम व लक्ष्मण की मूर्तियों में सबसे अहम बात यह है कि प्रतिमाओं के मूंछे बनी हुई जो राजा महाराजाओं की शान की प्रतीक मानी जाती है।
regards

आकांक्षा गर्ग ने कहा…

raghunath temple jammu :)

वन्दना ने कहा…

jab sabhi raghunath mandir kah rahe hain to wo hi hoga.

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

जब ब्लॉग जगत की दो परम श्रेष्ठ प्रतियोगी सीमा जी और अल्पना जी कह रही हैं तो शक की कोई गुंजाईश नहीं ! अब तो हम गूगल की बात भी नहीं मानेंगे

रघुनाथ मंदिर जवाब को लाक किया जाए !

Google+ Followers

चुराइए मत! अनुमति लेकर छापिए!!

Protected by Copyscape Online Copyright Infringement Protection

लिखिए अपनी भाषा में